कंगना राणावत का अनोखा प्रेम - Kangana Ranaut Kuldevi in Hindi

कंगना राणावत का अनोखा प्रेम - Kangana Ranaut Kuldevi in Hindi, इसमें कंगना राणावत की जगत गाँव में स्थित कुलदेवी अंबिका माता के बारे में जानकारी दी है।


{tocify} $title={Table of Contents}

क्या आप जानते हैं कि मशहूर फिल्म अभिनेत्री कंगना रानावत राजस्थानी है और उनका राजस्थान से गहरा रिश्ता है? कंगना अपने इस रिश्ते को निभाने के लिए राजस्थान के एक छोटे से गाँव में अपनी कुल देवी के मंदिर में आती रहती है?

निश्चित रूप से अब आप इस प्रश्न का उत्तर जरूर जानना चाहेंगे कि आखिर कौनसा है वो गाँव और कौन है वो कुल देवी, जिनका कंगना से रिश्ता है।

आपकी जिज्ञासा को और अधिक ना बढ़ाते हुए हम आपको उस गाँव और उस मंदिर के बारे में बताते हैं। उस गाँव का नाम है जगत और मंदिर है अम्बिका माता का।

जगत गाँव राजस्थान के उदयपुर जिले में एक छोटा सा गाँव है। गाँव छोटा है लेकिन इसका इतिहास एक हजार वर्ष से भी ज्यादा पुराना है।

इसी गाँव में एक हजार वर्ष पुराना अम्बिका माता का मंदिर है जिसे महिसासुर मर्दिनी के नाम से भी जानते हैं। इस मंदिर को राजस्थान का खजुराहो कहा जाता है।

जगत गाँव और अम्बिका माता के मंदिर से कंगना रानावत का पुश्तैनी रिश्ता है। दरअसल कंगना रानावत के पुरखे लगभग 150 वर्षों पहले तक इसी गाँव में रहते थे।

बाद में किसी वजह से यहाँ के रानावत परिवारों को जगत छोड़ना पड़ा। जगत छोड़ने के बाद कंगना के पूर्वज भी दूसरे रानावत परिवारों के साथ हिमाचल प्रदेश के मंडी में जाकर बस गए।

अब प्रश्न उठता है कि कंगना को अपने पुश्तैनी गाँव और कुलदेवी के बारे में कैसे पता चला? इसके बारे में कंगना खुद बताती है कि उनकी माताजी को सपने में कुछ लडकियाँ और देवी माँ दिखाई देती थी।

माताजी ने पंडितों से पूछा तो उन्होंने इसका सम्बन्ध उनकी कुलदेवी से होना बताया और कुलदेवी के दर्शन करने की सलाह दी।


कंगना की माताजी को ना तो इस पुश्तैनी गाँव और ना ही इस मंदिर के बारे में पता था, उन्हें सिर्फ इतना पता था कि उनके पूर्वज उदयपुर में कही रहते थे।

तब उन्होंने कंगना को ये बात बताई और अपनी कुलदेवी को खोजने के लिए कहा। कंगना ने काफी कोशिश करके आखिर अपने इस पुश्तैनी गाँव और रानावत परिवारों की कुलदेवी के मंदिर को ढूँढ निकाला।

मंदिर का पता लगने पर वर्ष 15 अक्टूबर, 2018 को कंगना इस मंदिर में आई। यहाँ पूजा अर्चना करने के बाद इस मंदिर की ज्योत अपने वर्तमान गृह जिले हिमाचल प्रदेश के मंडी में ले गईं।

मंडी में इन्होने इसी शैली में माता का मंदिर बनवाया ताकि इनके साथ दूसरे रानावत परिवार भी अपनी कुलदेवी के दर्शन कर सकें।

इसके बाद कंगना लगातार जगत गाँव में अपनी कुलदेवी के दर्शनों के लिए आती रहती हैं। जब इनके भाई की शादी हुई थी तब भी इनका पूरा परिवार माता के दर्शनों के लिए आया था।

अब आप कंगना रानावत के राजस्थान के उदयपुर जिले के एक छोटे से गाँव और इस गाँव में मौजूद इनकी कुलदेवी के मंदिर से रिश्ते के बारे में जान गए होंगे।

कंगना का अपनी कुलदेवी से जुड़ाव, कंगना के बॉलीवुड के उस बोल्ड रूप से बिलकुल भी नहीं मिलता है जो हमें फिल्मों में दिखता है।

इससे पता लगता है कि जो जैसा फिल्मों में दिखता है, असल जिंदगी में वैसा होता नहीं है। हिमाचल में बसने के बाद भी कंगना का अपनी कुलदेवी में विश्वास यही दिखाता है।

Kangana Ranaut Kuldevi in Hindi

जगत अंबिका मंदिर की मैप लोकेशन - Map location of Ambika Mata Mandir



लेखक (Writer)

रमेश शर्मा {एम फार्म, एमएससी (कंप्यूटर साइंस), पीजीडीसीए, एमए (इतिहास), सीएचएमएस}

सोशल मीडिया पर हमसे जुड़ें (Connect With Us on Social Media)

हमारे हिन्दी यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें
हमारे अंग्रेजी यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें
हमारे ट्रैवल गाइड यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें
हमें फेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें

डिस्क्लेमर (Disclaimer)

इस लेख में शैक्षिक उद्देश्य के लिए दी गई जानकारी विभिन्न ऑनलाइन एवं ऑफलाइन स्त्रोतों से ली गई है जिनकी सटीकता एवं विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। आलेख की जानकारी को पाठक महज सूचना के तहत ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने