चार लाइन की हिंदी कविताएँ - Chaar Line Ki Hindi Poems

चार लाइन की हिंदी कविताएँ - Chaar Line Ki Hindi Poems, इसमें अलग अलग मूड की चार लाइन की अनेक हिंदी कविताएँ शामिल की गई है।

Chaar Line Ki Hindi Poems

1. जब चाहिए था आपका साथ, साथ तो देते
मांगा था जब आपका हाथ, हाथ तो देते
मंजिल की तलाश तो मैं अकेले ही कर लेता
आप मंजिल पाने के हालात तो देते

2. निर्णय लेने से पहले सोचते तो सही
कौन सही है, कौन गलत है, तोलते तो सही
शिकायत बिल्कुल भी नहीं होती आपसे अगर
आप कभी मेरे मन को टटोलते तो सही है

3. मानता हूँ कि गलतियों का पुतला हूँ
मैं नहीं कहता कि दूध का धुला हूँ
मैं तो दाने की तलाश में निकला वो पंछी हूँ
जो ख्वाहिशों के लिए शिकार हो गया

4. माना कि बड़ा मगरूर हूँ मैं
छोटी सी बात का बड़ा कसूर हूँ मैं
अगर तुम्हारा नजरिया होता सच्चाई भरा
जान जाते कि फिर भी बेकसूर हूँ मैं

5. कई बार मन करता है कि ये दुनिया छोड़कर चला जाऊँ
क्या करूँ, उसका साथ निभाने की कसम जो खाई है
कैसे उसका भरोसा तोड़कर चला जाऊँ इस दुनिया से
जो सिर्फ मेरे भरोसे पर सब कुछ छोड़कर चली आई है

6. साथ ना होकर भी लगे, जैसे हमेशा उसका साथ हो
सितारा बनकर राह दिखाए, चाहे जैसी अंधेरी रात हो
कितनी भी दूर रहे लेकिन, जरूरत के समय हमेशा
ऐसा लगे जैसे कंधे पर सहारा देता उसका हाथ हो


7. जो गुजर गया उसे छोड़, अब तो नया आएगा
जो अब तक ना कर सका, शायद इस साल कर पायेगा
उम्मीद पर दुनिया कायम है मेरे दोस्त
खुद पर भरोसा रख, इस बार तेरा भी वक़्त आएगा

लेखक (Writer)

रमेश शर्मा {एम फार्म, एमएससी (कंप्यूटर साइंस), पीजीडीसीए, एमए (इतिहास), सीएचएमएस}

सोशल मीडिया पर हमसे जुड़ें (Connect With Us on Social Media)

हमारे हिन्दी यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें
हमारे अंग्रेजी यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें
हमारे राजस्थानी यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें
हमें फेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें

डिस्क्लेमर (Disclaimer)

इस लेख में शैक्षिक उद्देश्य के लिए दी गई जानकारी विभिन्न ऑनलाइन एवं ऑफलाइन स्त्रोतों से ली गई है जिनकी सटीकता एवं विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। आलेख की जानकारी को पाठक महज सूचना के तहत ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने